सोमवार, 8 मार्च 2010

किसान की बेटी राष्ट्रीय स्तर पर

करड़ा /निकटवर्ती ग्राम पंचायत गुंदाऊ की कबूली की ढाणी में किसान परिवार में जन्मी वादु विश्नोई की प्रतिभा काबिले तारीफ है। वादु ने स्कूली शिक्षा के दौरान खो-खो खेल प्रतियोगिता में कई कीर्तिमान स्थापित कर क्षेत्र सहित जिले के खो-खो प्रेमियों का दिल जीता है। सांकड़ गांव की राजकीय माध्यमिक विद्यालय में आठवीं कक्षा में अध्ययन के दौरान उसने सर्व प्रथम दयालपुरा में आयोजित जिला स्तरीय, बीकानेर में आयोजित राज्य स्तरीय व कोलकाता में आयोजित राष्ट्रीय स्तरीय खो-खो प्रतियोगिता में भाग लेकर जिले समेत राज्य को गौरवान्वित किया। इसी तरह नवम कक्षा में अध्ययन के दौरान भीनमाल में आयोजित जिला स्तरीय, सांगरिया हनुमानगढ़ में आयोजित राज्य स्तरीय एवं लुधियाना पंजाब में आयोजित राष्ट्रीय स्तरीय खो-खो प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त किया। खो-खो खेल प्रेमियों के लिए वादु का नाम जाना-पहचाना नाम है। विश्नोई ने बताया कि गांव में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। प्रतिभाओं को प्रोत्साहन नहीं मिलने से खेल जगत को नुकसान उठाना पड़ रहा है। जिले में इन बिखरी हुई प्रतिभाओं की पहचान जौहरी ही कर सकता है। खेल जगत को ऐसे जौहरी पुरूषों की आवश्यकता है। उनकी हार्दिक इच्छा है कि जिले में खो-खो गेम्स के लिए आवश्यक संसाधन व प्रशिक्षक की व्यवस्था राज्य सरकार करें, ताकि इन प्रतिभाओं को ऊंचा मुकाम हासिल हो सके।

1 टिप्पणी:

  1. वादू की तरह समाज की अन्य बालिका भी अपना व् समाज का नाम रोशन करे !

    उत्तर देंहटाएं